Home ताजा खबर सीएम अरविंद केजरीवाल ने की ‘मिड डे मील राशन किट’ की शुरुआत, 8 लाख बच्चों को होगा फ़ायदा

सीएम अरविंद केजरीवाल ने की ‘मिड डे मील राशन किट’ की शुरुआत, 8 लाख बच्चों को होगा फ़ायदा

24 second read
0
0
321

दिल्ली के सरकारी स्कूलों में मिड डे मील योजना में दिल्ली सरकार ने एक बड़ा बदलाव किया है। दिल्ली सरकार ने फैसला किया है कि अब से दिल्ली के सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले सभी छात्रों के नाम पर उनके अभिभावकों को राशन दिया जाएगा।

दिल्ली सरकार के स्कूलों में क्लास 1 से लेकर 8 तक के बच्चों को मिड डे मील राशन किट बांटी जा रही है। केजरीवाल सरकार के मुताबिक, लगभग 8 लाख स्कूली छात्रों को पूरी दिल्ली में राशन किट बांटी जाएगी।

अभिभावक राशन किट बच्चे के स्कूल से ले सकते हैं। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने आज इस योजना ‘मिड डे मील राशन किट’ की शुरुआत की और राशन किट लॉन्च की। मंगलवार को मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने शिक्षा मंत्री मनीष सिसोदिया के साथ मंडावली के राजकीय सर्वोदय विद्यालय में मिड डे मील बांटने पहुंचे।

किट में गेंहू, चावल, ऑइल, दाल दी जा रही है। इस मौके पर डिप्टी सीएम मनीष सिसोदिया ने कहा कि दिल्ली में सूखा राशन 8 लाख बच्चों के अभिभावकों को स्कूल से बांटा जाएगा। ये देश की पहली योजना है। जब तक स्कूल बंद रहेंगे तब तक मिड डे मील राशन की योजना चलती रहेगी।

वहीं, सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि पिछले 9 महीने मुश्किल गुजरे। मुश्किल कब ख़त्म होगी, पता नहीं है। उम्मीद है कि वैक्सीन से जीवन पटरी पर आ जाए, लेकिन जबतक वैक्सीन नहीं आती जीवन जीने का समाधान निकालना होगा। कभी ज़िंदगी में नहीं सोचा था कि बच्चे कम्प्यूटर या मोबाइल पर ऑनलाइन पढ़ाई करेंगे।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि मिड डे मील का अमाउंट अबतक अभिभावकों को उनके एकाउंट में ट्रासंफर किया गया। लॉकडाउन सबसे मुश्किल दौर था। लॉकडाउन में लोगों की नौकरी चली गयी थी। रोज कमाने वाले के लिए खाने के लाले पड़ गए थे। लॉकडाउन के दौरान खाने की दिक्कत न हो इसलिए हमारी सरकार ने रोजाना 10 लाख लोगों के खाने का इंतजाम होता था।

सीएम अरविंद केजरीवाल ने कहा कि लॉक डाउन के दौरान दिल्ली में 1 करोड़ लोगों को 3 महीने तक सूखा राशन दिया गया था। लॉकडाउन के दौरान बुजुर्गों की पेंशन डबल कर दी गयी, मजदूरों के अकाउंट में 5 हजार रूपए ट्रांसफर किये गए, टैक्सी और ऑटो चालकों के अकाउंट में 5 हजार रूपए ट्रांसफर किए गए। अब इसकी चर्चा गोवा में भी हो रही है।

बता दें कि दिल्ली सरकार दिल्ली के सभी सरकारी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों को मिड डे मील मुफ्त में मुहैया कराती है। लेकिन कोरोनावायरस के चलते दिल्ली में स्कूल लंबे समय से बंद हैं।इसलिए दिल्ली सरकार मिड डे मील की जगह छात्रों के अभिभावकों के खातों में मार्च महीने से अब तक पैसा ट्रांसफर कर रही थी। लेकिन अब दिल्ली सरकार ने छात्रों को नए तरीके से मिड डे मील देने का फैसला किया है।

Load More By Delhi Desk
Load More In ताजा खबर

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Check Also

दिल्ली में अब 100 प्रतिशत की क्षमता के साथ सरकारी कार्यालय खोलने की मिली इजाजत

देश में कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी से कमी आ रही है। राजधानी दिल्ली में रोजाना 150 स…